Koi Kisi Ka Nhi hota Shayari in Hindi
Other Quotes & Shayari

koi kisi ka nahi hota shayari

Spread the love

दोस्तों आज मैं आप लोगों के साथ शेयर करने वाला हूं मतलब की दुनिया में कोई किसी का नहीं होता शायरी स्टेटस कोट्स एसएमएस आदि का कलेक्शन। आज हम आप लोगों के लिए स्पेशल koi Kisi ka nahi hota quotes in hindi लेकर आए है। Share it on whatsapp, Facebook, Instagram.

आज हमने आप लोगों के लिए स्पेशल koi apna nahi hota quotes in hindi, Koi Apna Nahi Hota Shayari in hindi, Koi Apna Nahi Hota Status in Hindi, इस मतलब की दुनिया में कोई किसी का नही होता है आदि का संग्रहण आप लोगों के साथ शेयर करने वाला हूं जो कि आप लोगों को काफी पसंद आएगा।

दुनिया में ज्यादातर लोग मतलबी होते हैं.
आज के दौर में हम खुद अपने नहीं हो पाते हैं.
स्वार्थी बनकर किसी को अपना नहीं बनाया जा सकता है.
खुशियों में अपना हिस्सा मांगते हैं सब लोग
और दुःख ना जाने कहाँ गायब हो जाते हैं सब लोग.
किस्से कहानियों से समझिये, अपने-पराये का भेद
क्योंकि आजकल वफा हो गई है खुदगर्जी में कैद.
कुछ दर्द हमें अकेले हीं सहने होते हैं
क्योंकि भीड़ में कुछ लोग हीं अपने होते हैं.
सभी का तो बस खुदा होता है
इंसान भला कहाँ किसी का होता है।
बुरे वक़्त में तो अच्छे अच्छे साथ छोड़ देते हैं
और तुम तो वैसे भी बुरे हो सनम।
मैं जाता भी हूँ तो तेरा क्या जाएगा,
मेरे लिए तो तू ही था तेरे लिए तो कोई और भी आ जाएगा।
लाख रोकने के बाद भी तेरा होता रहा मैंने,
मुझे देख हसते रहे वो रोता रहा मैं।
दोस्त बनाकर ये जाना हमने,
सब मतलब के यार होते हैं।
जिन्हे अपनी पूरी ज़िन्दगी दे दो आखिर में
जाकर वो धोखा ही देते हैं।
है दौर खुदगर्जी का, चंद पैसे अपने लिए भी जोड़कर रखिये
जो सिर से पैर तक खुदगर्ज हों, उनसे नाता तोड़कर रहिये.
कुछ लोग भेष बदलकर बर्बादी बनकर आते हैं जिंदगी में
और फिर दुआ देने का दिखावा करते हैं आबाद होने का.
आँसू आँखों में होंगे तो कोई पास भी नहीं आएगा तेरे
जरा सा मुस्कुराओगे, तो हर कोई तुझसे दावत मांगेगा.
आत्मनिर्भर बनिये क्योंकि जीवन के बुरे दौर में
कोई किसी का नहीं होता है.
Show off के इस दौर में किसे फ़िक्र है.
कि कौन उसका अपना है और कौन पराया.
बिना किसी मकसद के कोई आपकी परवाह करे.
तो यकीन मानिये आप भाग्यशाली हैं.
मंज़र है मतलबी का यहाँ,
भला कौन होता है किसी का यहाँ।
जो सोचता है की हर कोई किसी का होता है,
उसके साथ बस धोखा होता है।
सच मेरा एक सपना ना हुआ,
अपने तो बहुत मिले मगर कोई अपना ना हुआ।
वक़्त रहते अपने चाहने वालों को समय दो
वर्ण याद रखना वक़्त किसी का नहीं होता।
शुक्रगुज़ार मैं तेरा भी होता,
अगर जैसे मैं तेरा हुआ वैसे मैं तेरा भी होता।
वक़्त होते होते होता ही रहा,
तू तो मेरा ना हुआ पर मैं तेरा होता ही रहा।
सब किसी ना किसी धर्म का है वैसे तो,
मगर ऐसे कोई किसी का नहीं है।
कहीं मैं तो कहीं तुम रहा,
इस बीच हम कहीं गुम रहा।
अँधेरी ज़िदगी में मेरी सवेरा ना हुआ,
मैं तो तेरा हो गया तू मेरा ना हुआ।
जिंदगी के हर दौर में हमसे ढेरों लोग जुड़ते हैं.
लेकिन बहुत कम लोग ऐसे होते हैं,
जो ईमानदारी से रिश्ते को उम्र भर निभाते हैं..
जो जीवनसाथी बनने के लिए तैयार नहीं हो,
उससे दूर हो जाना चाहिए.
क्योंकि ऐसे लोग किसी के अपने नहीं होते.
स्वार्थी होना कभी भी अच्छा नहीं होता.
लेकिन यह भी याद रखें कि जो सामर्थ्यवान नहीं होता,
उसका कोई कहीं अपना नहीं होता.
अतिआदर्शवादी होने से जिंदगी नहीं चलती है,
यह भी याद रखना होता है
कि गरीब का कोई अपना नहीं होता.
जब हमारे राज जानने के बाद
कोई हमें Blackmail करने लगता है.
तब पता चलता है कि कोई किसी का अपना नहीं होता.
इस मतलबी दुनिया में
अपनापन केवल एक दिखावा है
सबको धोखा मिलेगा ये मेरा दावा है।
चाहतों का सिलसिला थम गया है
मोहोब्बोतों में अब जिस्मों का करवा चल रहा है।
ये सपना ना सपना रहता,
अगर तू भी हमे अपना कहता।
काम आने पर सब अपने हैं,
काम हो जाने पर कौन अपना है।
मेरे कई है मगर मैं किसी का नहीं हूँ,
मुझे अकेला रहने दो मैं अकेला ही सही हूँ।
यूँ तो रिश्ते हर किसी के हर किसी से है,
मगर जज़्बातों की टोकरी में बेहिसी है।।
मैं तो कहता हूँ तुझे अपना मानते हैं हम,
अगर तू हमे अपना मानता है तो कुछ कहता क्यों नहीं।
किसी अपने को ढूँढना आज के दौर में सच में मुश्किल है.
किसी के लिए खुद को बर्बाद कर लेना
हमेशा बेवकूफी होती है.
जीवन में अकेले चलने का हुनर भी सीखना चाहिए
कोई साथ ना दे,
तो भी मुश्किलों के बीच हमें टिकना चाहिए.
जब दो लोग एक-दूसरे को
उनकी कमी के साथ स्वीकार करते हैं.
तभी वे दोनों एक-दूसरे के हो पाते हैं.
जिसका दिल कभी भी टूटा हो
वह जानता है जमाने की हकीकत
कुछ लोग अपने नहीं होते,
चाहे उन्हें अपना सब कुछ हीं सौप दो.
जब हमारी छोटी सी कमी जानने के बाद,
कोई व्यक्ति हमें ताने सुनाने लगता है.
तब महसूस होता है कि कौन हमारा अपना है
और कौन पराया है.
दुनिया की बातों का
हम ऐतबार नहीं करते हैं,
जमीर का सौदा करके
हम प्यार नहीं करते हैं….
मोहोब्बत का आलम बेबसी का है,
आज कल कहाँ कोई किसी का है।
क्या काम है वो कहो हमे,
तुम खामखा अपना ना कहो हमे।
बस अपना काम निकलना चाहिए,
फिर भला मैं कौन और तू कौन।
तुझे मुझसे काश कोई काम ही पड़ जाए,
मालूम पड़ता है की काम पड़ने पर लोग मिलने आ जाते हैं।
लाख गिरते रहे मगर कोई सहारा ना हुआ,
हम सबके हो गए मगर कोई हमारा ना हुआ।
हमे तुम ना अपना कहो सनम,
तुम तो बस अपनी कहो सनम।
ज्यादातर रिश्ते स्वार्थ की बुनियाद पर टिके होते हैं,
वास्तव में कोई किसी का अपना नहीं होता है.
जब मुझसे दिल भरने पर वो मुझसे दूर हो गई
तब मुझे मालूम हुआ कि कोई किसी का नहीं होता.
Smart Phone के दौर में जो आपसे हमेशा दूर है.
यकीन मानिये आप उनके लिए खास नहीं हैं.
दिखावे के चक्कर में मत भूलिए अपने हित की बात
क्योंकि मुश्किलों में कोई अपना नहीं नजर आता है साथ.
किसी गरीब से अच्छा कोई नहीं बता सकता है
कि ज्यादातर कमजोर लोगों का कोई अपना नहीं होता है.
इस दुनिया में किसी को दुनिया मत बनाना
क्यूंकि दुनिया में इंसान किसी का नहीं होता है।
जब भारी होती है
जेब आपकी लोग आपके साथ खड़े तभी होते है
वरना कोई किसी का नहीं
होता लोग सब मतलबी होते है
जिसने साथ दिया बुरे
वक्त में उसी का ही नहीं होता
ये दुनिया ऐसी ही है
जनाब यहां कोई किसी का नहीं होता
तुम जाते जाते इस प्यार
को भी मतलबी बना गये
और हम मरते मरते भी
इस मतलबी को प्यार कर गये।।

Leave a Reply

Your email address will not be published.