Dhokebaaz Shayari in Hindi
Other Quotes & Shayari

Dhokebaaz Shayari

Spread the love

Latest  Dhokebaaz Shayari in Hindi ll DHokebaaz Quotes ll  Dhokebaaz Shayari ll Dhokebaaz Shayari in Hindi llShare it on whatsapp, Facebook, Instagram.

दुनिया में धोखेबाज से बड़ा कोई दुश्मन नहीं है और धोखे से बड़ा कोई दुःख नहीं है। इंसान की असली पहचान बुरे वक्त में ही होती है। अधिकतर लोग बुरे समय में ही अपनी असलीयत दिखाते हैं। आज दुनिया में धोखा और धोखेबाज़ लोगों की कोई कमी नहीं है और आज का हमारा आर्टिकल धोखेबाज शायरी और धोखा शायरी पर है, धोखेबाज शायरी इन हिंदी या यूं कहें कि धोखेबाज शायरी स्टेटस कोट्स एसएमएस आदि का संपूर्ण कलेक्शन जो कि आप लोगों को काफी पसंद आएगा।

Dhokebaaz Quotes

तनहाई मुझे अच्छी लगती है,
महफिल में तो सब धोखेबाज है।
जिन्दगी की हर मोड़ पर धोखेबाज मिलें,
उनमें पराये कम, अपने ज्यादा मिलें।
वो तो मेरी किस्मत ही धोखेबाज थी,
वरना वो फरिश्ता तो मेरा ही था।
समय गुज़रते-गुज़रते कुछ लोगो का प्यार
कमज़ोर नहीं और गहरा हो रहा है
दिल के दर्द को दिखाना बड़ा मुश्किल है.
धोका खा कर बताना बड़ा मुश्किल है.
मोहब्बत जिंदगी बदल देती है
मिल जाए तो भी और न मिले तो भी

Dhokebaaz quotes | dhokebaaz shayari dosti ​

हर खेल में हम बाजी मार जाते हैं,
पर धोखेबाज से हम बाजी हार जाते हैं।
बो आयने में खुद को कैसे बर्दाश्त करते होंगे,
उन्हें तो सख्त नफ़रत थी धोखेबाजों से।
धोखा भी बादाम की तरह है,
जितना खाओगे उतनी अक्ल आती है।
बहुत तलाश किया पर कहीं गुम हो गए वो…
ढूंढने की कोशिश की पर नहीं मिले वो,
मेने तो वफ़ाई की लेकिन.. उसके प्यार में शायद खोट था…
इसलिए तो किसी और के बाहों में खो गए वो… ।।
अब तो हम तेरे लिए अजनबी हो गए ,
बातों के सिलसिले भी कम हो गए …
खुशियों से जायदा हमारे पास गम हो गया ,
क्या पता यह Wakt बुरा है या बुरे हम हो गए … ।।
जबसे प्यार में धोका खाया है ,
हर हुस्न वालों से डर लगता है …
पहले अंधेरे की आदत नहीं थी मुझे ,
अभी उजालों से डर लगता है … ।।

Dhokebaaz shayari hindi

कोई “शक्ल” नहीं होती धोखेबाजो की,
हमेशा चेहरे पर नकाब लेकर घूमते हैं यह लोग।
कुछ इस तरह उन्होंने धोखा दिया,
कि मेरी ज़िंदगी का हर मकसद छीन लिया।
झूठी हमदर्दी झूठा प्यार यही सच्चाई है, एक धोखेबाज इश्क करने वालों की।
इश्क कहता है मुझे इक बार कर के देख,
तुझे मौत से न मिलवा दिया तो मेरा नाम बदल देना।
आंखें बंद थी किसी कि याद में
और मौत धोखा खा गयी!
इंकार करते करते इक़रार कर बैठे
हम तो एक बेवफा से प्यार कर बैठे

Dhokebaaz shayari in hindi for girlfriend

धोखेबाज तो हज़ारों मिलेंगे ज़िन्दगी में,
इसका मतलब ये तो नही,
की हम भरोसा करना छोड़ दे।
धुंआ ही धुंआ फैला है ज़माने में आज,
छुप गए इंसानियत और वफ़ा
बढ़ गये है धोखेबाज।
मुझे तेरा इश्क़ बेइमान सा लगता है,
कभी इधर कभी उधर भटकता तेरा दिल
मुझे धोखेबाज सा लगता है।
दर्द इतना था ज़िंदगी में कि
धड़कन साथ देने से घबरा गयी
तुमने प्यार ना सही पर तुम्हारे धोखे ने
मुझे बहुत हिम्मत दी है
दिल के ज़ख्म भरते-भरते कब वो
दिल ज़ख़्मी कर गए पता ही नहीं चला

Dhokebaaz shayari in hindi for boyfriend

उसकी यादें सदाबहार है,
मगर अब वो मेरी पहुंच से बाहर है,
पाकर भी करूंगा क्या,
वो तो हमेशा से एक धोखेबाज है।
तुम धोका करो तब भी धोखेबाज नहीं,
हम वफा करें तो भी गुनहगार है,
ये खता तेरी नहीं जान मेरी,
ये तो वक़्त-वक्त की मार है।
उल्फत का अक्सर यही दस्तुर होता है,
जिसे चाहो वही अपने से दूर होता है,
दिल टूट कर बिखरता है इस कदर,
जैसे कोई कांच का खिलौना चूर होता है …. ।।
पल पल उसका साथ निभाते हम,
एक इशारे पे दुनिया छोड़ जाते हम,
समंदर के बीच में पहुच कर फरेब किया उसने,
वो कहता तो किनारे पर ही डूब जाते हम … ।।
मुझसे खता हुई जो ये दिल तुझसे लगा लिया,
गम को हमेशा के लिए अपना बना लिया …
अब जीने की चाहत न रही हमको,
इसलिए हमने अपनी मौंत का जनाजा खुद ही सजा लिया ||
ज़िन्दगी में एक पल भी सुकून न पाया ,
दुनिया की इस भीड़ में खुद को तनहा न पाया …
तेरे दिए ज़ख्मो को प्यार समझते रहे ,
तेरे धोके में आके किसी से दिल न लगाया …. ।।

Dhokhebaj status | dhokebaaz shayari status

प्यार निभाने के लिए , मैं हमेशा झुकता रहा …
और तुम इसे मेरी , औकात समझ बैठे … ।।
बेवजह छोड़ गए हो ,
बस इतना बताओ सुकून मिला की नहीं …. ।।
आदत थी मेरी मुस्कुराने की तुमने रोना सीखा दिया …
इन प्यार वाली बातों से , तुमने दूर रहना सीख दिया … ।।
आंखों से आंसू नहीं रुक रहे ,
और एक तू है के हस के बात कर रही है …
लहजे में माफी और आंखों में शरम तक नहीं ,
ये एक्टिंग का कोर्स तू ला जवाब कर रही है .. ।।
हर रोज एक खाब टूट जाने दे ,
हर रोज युही खूद को रूठ जाने दे …
मेरी किस्मत में ही बेवफाई है ,
दिल एक शीशा है आज फिर फूट जाने दे …. ।।
हम क्या शिकायत करें किसी से ,
यहां तो हर कोई बेवफा है …
इश्क करो भले जी जान से ,
धोखा यहां सबको मिलता है … ।।

Dhokebaaz shayari 2 line

तुम्हे शिकायत है की मुझे बदल दिया वक़्त ने
खुद से पूछो, क्या तुम वही हो … ।।
तेरे बाद मैंने मोहब्बत को
जब भी लिखा गुनाह लिखा… ।।
अल्फ़ाज़ सिर्फ चुभते हैं,
खामोशियां मार देते है।।
दिलों जान से चाहा था उसे,
लेकिन उसने मेरी मजबूरी को
धोखेबाजी का नाम दे दिया।
जो जले थे हमारे लिऐ बुझ रहे है ,
वो सारे दिये, कुछ अंधेरों की थी ,
साजिशें कुछ उजालों ने धोखे दिये … ।।
हम दोनों ही धोखा खा गए,
हमने तुम्हें औरों से अलग समझा।
और तुमने हमें औरों जैसा ही समझा।।

Best Dhokebaaz shayari in Hindi

हर मुलाकात पर वक्त का तकाजा हुआ,
हर याद पर दिल का दर्द ताजा हुआ,
सुनी थी सिर्फ लोगो से जुदाई की बाते,
आज खुद पर बीती तो हकीकत का अंदाजा हुआ
बस दिल लगी थी उसे हमसे मोहब्बत कब थी ,
महफ़िल ए गैर से उन को फुरसत कब थी…
हम थे मोहब्बत में लोट जाने के काबिल ,
उस के वादों में वो हकीकत कब थी … ।।
मोहब्बत में कोई जी गया कोई प्यार में मर गया
मोहब्बत आग को सागर है फिर भी उतर गया कोई
प्यार में जखम का हिसाब बहुत पुरान है मेरे दोस्त,
जख्म दे गया कोई जख्म भर गया कोई … ।।
पहले जिंदगी छीन ली मुझसे,
अब मेरी मौत का भी वो फायदा उठाती है,
मेरी क़ब्र पे फूल चढ़ाने के बहाने,
वो किसी और से मिलने जाती है … ।।
मेरी बर्बादी का इल्जाम ना आता तुझ पर जाना ,
उस शाम गली में अगर मैं तुझसे ना टकराया होता …
जख्म मिलते तुझे भी अगर इश्क़ में मेरी ही तरह ,
अश्क़-ए-लहू कुछ तेरी आँखों ने भी बहाया होता … ।।
सब के होते हुए भी तन्हाई मिलती हे,
यादो में भी गम की परछाई मिलती हे,
जितनी भी दुआ करते हे किसी को पाने की,
उतनी ही उनसे बेवफाई मिलती है..!!

Dhokebaaz shayari for all dhokebaaz

दीवानगी का सितम तो देखो कि
धोखा मिलने के बाद भी चाहते है हम उनको .
धोखेबाजों का चलन है साहब,
वफ़ा करने वालो की कहाँ कदर है।
जो धोखा करना सीख जाते है जनाब,
हर सख़्श उन्हें धोखेबाज़ लगते है।
बड़ी हसीन थी जिंदगी ,
जब ना किसी से मोहब्बत ना किसी से नफ़रत थी …
जिंदगी में एक मोड़ ऐसा आया मोहब्बत उससे हुई ,
और नफ़रत सारी दुनिया से हो गयी … ।।
लम्हा लम्हा सांसे ख़तम हो रही है ,
जिंदगी मौत के पहलू में सो रही है …
उस बेवफा से ना पूछो मेरी मौत की वजह ,
वो तो जमाने को दिखाने के लिए रो रही है … ।।
भरोसा जितना कीमती होता है ,
धोका उतना ही महंगा हो जाता है …
ईमानदारी का दाम कोन जाने ,
यहां हर बेइमान राजा हो जाता है … ।।
ये नहीं गम के कसम अपनी भुलाई तुमने ,
गम तो ये है कि रकीबों सी निभाई तुमने …
कोई रजिश थी अगर तुमको तो मुझसे कहते ,
बात आपस की थी सबको क्यों बताई तुमने … ।।
हर लम्हा साँसे बुड्ढी हो रही है ,
जिंदगी मौत के साये में है फिर जिद्दी हो रही है …
बेवफा को बेखबर रखना मेरी मौत की खबर से ,
ज़माने के लिए आंसू है वो अंदर हंस रही है … ।।
शुक्र है खुदा का ,
जिसने रंगीन नहीं रखे आंसू …
वरना रात में भीग जाने वाले तकिये ,
हमारे राज बया कर देते … ।।

Leave a Reply

Your email address will not be published.